Prayers & Duties >> Waqf, Mosque, Madrasa

Question # : 167003

India

मस्जिद की दुकानों का मस्जिद कमेटी किराये में बृद्धि कर रही है किन्तु 15₹ सालाना किराये में बृद्धि होती है परन्तु मस्जिद के सामने वाली दुकानों का किराया 3 गुना अधिक है कही हम कम किराया देकर मस्जिद के साथ अन्याय तो नही कर रहे है।

Answer : 167003

Published on: Dec 18, 2018

بسم الله الرحمن الرحيم



Fatwa ID: 247-240/SN=04/1440



 


मस्जिद की दुकानों का किराया भी इतना होना चाहिये जितना इस तरह की दुसरी दुकानों का हो, पूछे गए सवाल में मस्जिद कमेटी पर ज़रूरी है कि मस्जिद की दुकानों का भी इतना किराया मुकर्रर (फिक्स) करें जितना इस तरह की दुसरी दुकानों का है और किरायादारों पर भी ज़रूरी है कि कमेटी की तरफ से फिक्स किया हुआ किराया पाबंदी से अदा करें; बल्कि अगर कमेटी वाले मुतआरफ किराया (आम किराया) मुकर्रर न करें फिर भी दुकानदारों पर मुतआरफ किराया (उजरते मिसली) अदा करना ज़रूरी है वरना गुनहगार होंगे।



متولي أرض الوقف آجرها بغير أجر المثل يلزم مستأجرها أي مستأجر أرض الوقف ...... تمام أجر المثل علي المفتي به . (درمختار مع الشامي: 9/29‏، ط: زكريا‏، كتاب الاجاره) ۔ 




Allah knows Best!


Darul Ifta,
Darul Uloom Deoband

Related Question